You are here
Home > पे पर क्लिक मार्केटिंग > रीमार्केटिंग या रीटार्गेटिंग क्या होता है |

रीमार्केटिंग या रीटार्गेटिंग क्या होता है |

रीमार्केटिंग या रीटार्गेटिंग क्या होता है | रीमार्केटिंग कैसे की जाती है | रीटार्गेटिंग कैसे करें

रीमार्केटिंग या रीटार्गेटिंग ऑनलाइन एडवरटाइजिंग या डिजिटल मार्केटिंग का एक ऐसा भाग है जिसमे हमारी वेबसाइट पर आये हुए विसिटर्स को हमारी वेबसाइट से BOUNCE हो जाने के बाद टारगेट किया जाता है और उन्हें हमारी वेबसाइट पर मौजूद प्रोडक्ट्स या सर्विसेज अन्य वेबसाइटों पर दिखाया जाता है |

रीमार्केटिंग का शाब्दिक अर्थ है फिर से मार्केटिंग करना या फिर से टारगेट करना |

रीमार्केटिंग या रीटार्गेटिंग आपको अपने टारगेट में आने वाले यूजर्स को Ads दिखाने में सक्षम बनाता है |

रीमार्केटिंग को बेहतर समझने के मान लीजिये की आपने कोई शौपिंग वेबसाइट विजिट की और कोई प्रोडक्ट देखा पर उसे ख़रीदा नही | इसके बाद आप अन्य किसी वेबसाइट पर सर्फ करने लगे पर आपको उस वेबसाइट पर देखे गए प्रोडक्ट को विज्ञापन दिखने लगा | इस विज्ञापन का दिखना ही रीमार्केटिंग या रीटार्गेटिंग है |

एक सर्वे के अनुसार हमारी वेबसाइट पर आने वाले १०० यूजर्स में केवल २ या ३ यूजर ही पहली बार में प्रोडक्ट या सर्विस खरीदते है | बाकि के 97% यूजर्स बिना कुछ ख़रीदे बाउंस हो जाते है |

गूगल एडवरटाइजिंग नेटवर्क के दो मेहेत्व्पूर्ण टूल हैं  ADWORDS और ADSENSE |

ADOWORDS के माध्यम से एडवरटाइजर गूगल में advertisement देता है |

ADSENSE के माध्यम से वेबसाइट का मालिक गूगल के ADS को अपनी वेबसाइट पर प्रकाशिक करता है |

ADSENSE में दिखाए जाने वाले ऐड्स में ही रीमार्केटिंग वाले ADS दिखाए जाते हैं |

 

Leave a Reply

Top